इस तकनीक से बनाएँ पासवर्ड अपना अभेध्य


नोज जैसवाल : सभी पाठकों को मेरा प्यार भरा नमस्कार.मेरी पिछली पोस्ट को अत्यधिक पसंद करने के लिए आप सभी का दिल से धन्यबाद.जो कि जुलाई 28 जुलाई 2012 को प्रकाशित हुई थी.आज 1 अगस्त 2012 को मैं यह पोस्ट प्रकाशित कर रहा हूँ.वक्त और व्यक्तिगत समझ के मुताबिक कीमती चीजें जुटाना और इस पर ताला लगाना इंसानी फितरत है. सूचना क्रांति के दौर में समझ का स्तर और दायरा तो बदला ही, पासवर्ड भी बदल गया. डिजिटल दुनिया में सबसे कीमती अगर कुछ है तो वो है ‘डेटा’ और इसे सुरक्षित रखने की चिंता भी वैश्विक है. पासवर्ड महज एक शब्द नहीं, बल्कि ऐसी चाबी है, जिसके इस्तेमाल से सूचनाओं के अनंत संसार में सेंध लगाना मुमकिन हो गया है. इस चाबी से जुड़ी समझ और शोध का क्षेत्र है ‘क्रिप्टएनलिसिस’ ग्रीक भाषा में क्रिप्टो का अर्थ कूट भाषा है
. अनचाहे दिक्कत पैदा करने वाली स्थितियों के बावजूद डेटा का सुरक्षित लेन-देन कैसे हो, क्रिप्टोलॉजी इसी चुनौती से जूझने की कला है. हालांकि इस तरह की व्यवस्था द्वितीय विश्व युद्ध से ही शुरू हो गई थी, लेकिन वक्त के साथ क्रिप्टोलॉजी के संदेश गूढ़ होते गए. क्रिप्टोलॉजी में गणित की प्रमेय और कंप्यूटर विज्ञान के जरिए पासवर्ड या ‘एंट्री-की’ की ऐसी जटिल गुत्थियां तैयार की जाती हैं, जिन्हें अनधिकृत शक्ति खोल न सके. शब्द, अंक और संकेतों से गूंथ कर बने ऐसे कूट संदेश ऊपरी तौर पर बेकार और उलझाऊ लग सकते हैं, मगर इन्हें बनाना और तोड़ निकालना खासी विशेषज्ञता की मांग रखता है. मसलन, अक्षरों को अंकों में बदलने और हर शब्द को उलट कर लिखने का बेहद आसान-सा नियम बनाते हुए यदि किसी क्रिप्टोग्राफी संदेश में manoj को उलट कर (7‘15’‘14’‘1’13) लिख दिया जाए तो अंकों की एक मुश्किल-सी दिखने वाली लड़ी तैयार हो जाएगी, जिसे तय फॉर्मूले के जरिए तो पढ़ना आसान होगा, लेकिन वैसे यह शब्द अबूझ पहेली बन जाएगा. अब अगर इस फॉर्मूले में शब्द बन जाने पर अपर और लोअर केस का क्रमबद्ध इस्तेमाल और तय अंतराल पर गणितीय संकेतों का प्रयोग और जोड़ दिया जाए तो छोटा-सा ‘manoj’शब्द दिमाग चकराने वाली भूल भुलैया में तब्दील हो जाएगा.

क्रिप्टोलॉजी क्या है


क्रिप्टोलॉजी संकेतों की भाषा का ऐसा शास्त्र है, जिसके बारे में हम सब कुछ-कुछ जानते हैं. बचपन में दोस्तों से


कोड और संकेतों से बात भी क्रिप्टोलॉजी का ही एक रूप थी। बच्चे अपनी तरह से बात छुपाने की कोशिश 


करते हैं, बड़ों की दुनिया में बातें बड़ों की तरह और ज्यादा जटिल तरीकों से गुप्त रखी जाती हैं. 


इसके अलग-अलग स्तर हैं.


सिर्फ इंसानी क्षमता को चुनौती देनी है तो इसका स्तर अलग होगा, लेकिन कंप्यूटर की बात और है.


 कंप्यूटर के लिए क्रिप्टो की पहेली का यह स्वरूप और स्तर अलग और ज्यादा कठिन हो जाएगा.


मौजूदा दौर में क्रिप्टोलॉजी कितनी अहम है.


आज तकनीकी दौर में क्रिप्टोलॉजी सार्वभौमिक जरूरत है. देश एकदूसरे से सीमित सूचनाएं साङी करते हैं और


 काफी जानकारियां रणनीतिक तौर पर छिपाते हैं. कंपनी जगत में भी प्रतिस्पर्धियों की सूचनाएं जानने और 


अपनी जानकारियां बचाने की होड़ रहती है. यहां तक कि आम इंसान भी मोबाइल का इस्तेमाल करते वक्त 


चाहता है कि कोई तीसरा उसकी बातें न सुन रहा हो. इन सब बातों का हल क्रिप्टोलॉजी में ही है.


क्या आपको यह लेख पसंद आया? अगर हां, तो ...इस ब्लॉग के प्रशंसक बनिए !!
इस पोस्ट का शार्ट यूआरएल चाहिए: यहाँ क्लिक करें। Sending request...
Comment With:
OR
The Choice is Yours!

15 कमेंट्स “इस तकनीक से बनाएँ पासवर्ड अपना अभेध्य”पर

  1. अच्छी जानकारी शुक्रिया मनोज जी.

    ReplyDelete
  2. पोस्ट पर राय के आभार शिवम् जी.

    ReplyDelete
  3. ज्ञानवर्धक जानकारी गुरु जी आपका शुक्रिया.

    ReplyDelete
  4. लाभ दायक जानकारी धन्यवाद मनोज जी रक्छाबधन की शुभकामनायें.

    ReplyDelete
  5. ज्ञानवर्धक व् उपयोगी जानकारी भाई बहन के इस पावन अवसर पर आप को बधाई.

    ReplyDelete
  6. उपयोगी आलेख मनोज जी की रक्षाबंधन शुभकनाओ सहित आभार.

    ReplyDelete
  7. ज्ञानवर्धक जानकारी भाई बहन के इस पावन अवसर रक्षाबंधन पर आप को बधाई.

    ReplyDelete
  8. हेकरो से सभी परेशान हे शायद आपकी यह पोस्‍ट उनको परेशान करने वाली है आपको राखी पर्व की शुभकामनाये
    यूनिक तकनीकी ब्लाग

    ReplyDelete
  9. लाभदायक जानकारी है आज भी आपके पोस्ट में ,
    ज्ञान का अम्बार लगा है आपके इस ब्लॉग में.

    रक्षा बंधन की शुभकामना.साथ ही मै कई दिन से ये पूछना चाह रहा था की ब्लॉग पर ऑडियो पोस्ट कैसे करते हैं.अगर इस बारे में आप तफसील से बतायेंगे तो बेहतर होगा.और पोस्ट करेंगे तो सबसे ही अच्छा.मैंने कुछ ब्लॉग पर देखा है की ऑडियो अपलोड किये हुए हैं.और डाऊनलोड की सुविधा भी दी हुई है.इस बारे में कुछ जानकारी दें.


    मोहब्बत नामा
    मास्टर्स टेक टिप्स

    ReplyDelete
  10. शानदार तरीका बताया आपने आभार मनोज जी

    ReplyDelete
  11. लाभ दायक जानकारी आभार.

    ReplyDelete
  12. शानदार लेख सर हेंकर्स ने सभी को दुखी किया है आपके इस लेख से हम सभी को फायदा हुआ है.थैंक्स

    ReplyDelete
  13. सभी मेहरबान मित्रों का पोस्ट पर राय के लिए दिल से आभार.

    ReplyDelete
  14. भाई आमिर जी ब्लॉग पर संगीत लगाने के कई तरीके है.आप फीडबर्नर पर जाकर भी इसे अपने ब्लॉग पर लगा सकते है,पहले आप को किसी जगह मसलन गूगल साईट या डाक्स , इत्यादि पर अपने mp3 गाने स्टोर करने होगे व् उनका लिंक फीडबर्नर पर डालना होगा.ज्यादा जानकारी किसी पोस्ट के माध्यम से जल्द ही.

    ReplyDelete

Widget by:Manojjaiswal
Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...
Online Marketing
Praca poznań w Zarabiaj.pl
 

Blog Directories

क्लिक >>

About The Author

Manoj jaiswal

Man

Behind

This Blog

Manoj jaiswal

is a 56 years old Blogger.He loves to write about Blogging Tips, Designing & Blogger Tutorials,Templates and SEO.

Read More.

ब्लॉगर द्वारा संचालित|Template Style by manojjaiswalpbt | Design by Manoj jaiswal | तकनीक © . All Rights Reserved |